Cryptocurrency Kya Hai: Cryptocurrency क्या है? – यह कैसे काम करती है?

Cryptocurrency Kya Hai:- Cryptocurrency जिसे की Crypto या फिर Crypto-Currency के नाम से भी जाना जाता है, Cryptocurrency एक  Digital या Virtual Currency है, यह Currency अपने लेनदेन को सुरक्षित के लिए Cryptography का उपयोग किया होता है। और इसमें Decentralized System का उपयोग किया जाता है, Decentralized System का मतलब है कि इसमें किसी Central Authority या फिर किसी Financial Institution जैसे की Banks का कोई कंट्रोल नहीं होता है।

Cryptocurrency-Kya-Hai

Cryptocurrency क्या है?

Cryptocurrency एक Digital Payment System है जिसमें की हर transactions को verify करने के लिए बैंक पर निर्भर नहीं होना पड़ता है।

यह Peer to Peer सिस्टम है जिससे कि किसी को भी और कभी भी पैसा भेजा या प्राप्त किया जा सकता है, इसमें सबसे अच्छी बात यह है कि इसमें किसी भी प्रकार की Currency में physical Money शामिल नहीं होती है, और पूरी दुनिया में से कहीं से भी किसी को भी आसानी से पैसा भेजा या प्राप्त किया जा सकता है। 

Cryptocurrency में जो भी पेमेंट होती हैं वह पूरी तरीके से digital entries के तौर पर डेटाबेस में जमा रहता है जिसमें कि हर Transaction का रिकॉर्ड सुरक्षित रहता है जब भी आप क्रिप्टोकरंसी फंड को ट्रांसफर करते हैं तो वो ट्रांजैक्शन public ledger में रिकॉर्ड हो जाती है, तो इस प्रकार Cryptocurrency डिजिटल वॉलेट में स्टोर रहती है।

दुनिया की सबसे पहली Cryptocurrency Bitcoin है जो 2009 में खोजी गई थी जिसे की अब तक की सबसे बढ़िया Cryptocurrency माना  जाता है। ज्यादातर लोग Cryptocurrency में रुची इसीलिए रखते है, क्युकी वो लोग इस Digital Crypto खरीद या बेचकर इसके द्वारा अच्छा Profit  कमा सके।

Also Read: Bitcoin Kya Hai – What is Bitcoin in Hindi Complete Info

Cryptocurrency कैसे काम करती है?

Cryptocurrency distributed public ledger पर काम करती है जिसे कि ब्लॉकचेन कहा जाता है,  जिसमे सभी ट्रांजैक्शन को सुरक्षित रूप में रखा जाता है, Cryptocurrency के Transaction का डाटा जिन blocks में स्टोर रहता है उनको माइनिंग प्रोसेस के द्वारा बनाया जाता है,  इस माइनिंग प्रोसेस को कंप्यूटर प्रोग्राम के द्वारा कुछ कॉम्प्लिकेटेड मैथमेटिकल प्रॉब्लम द्वारा Solve किया जाता है जिससे कि Coins को Generate किया जा सके।

यदि आपके पास क्रिप्टोक्यूरेंसी है, तो इसका मतलब है की आपके पास कोई फिजिकल Currency नहीं है। इसका मतलब है की आपके पास एक कुंजी है जो आपको किसी Trusted Third party के बिना आप अपनी अपने  पैसों को भेज या ले  सकते हो।   

कुछ प्रसिद्ध Cryptocurrencies

वैसे तो Market  में हजारों Cryptocurrencies प्रसिद्ध हैं। लेकिन हमने उनमें से जो सबसे प्रसिद्ध Cryptocurrencies है उनका हमने नीचे चर्चा किया है।

Bitcoin

Bitcoin को 2009 में Satoshi Nakamoto नाम के व्यक्ति द्वारा developed किया गया था Bitcoin दुनिया की सबसे पहली और सबसे ज्यादा पॉपुलर क्रिप्टोकरेंसी है।  इसके साथ ही आज के टाइम में भी बिटकॉइन एक ऐसी क्रिप्टोकरंसी है जिस पर दुनिया भर में लोगों को सबसे ज्यादा भरोसा है। जब भी क्रिप्टोकरेंसी की बात आती है तो लोग सबसे पहले बिटकॉइन को ही खरीदना या बेचना पसंद करते हैं जिससे बिटकॉइन का मार्केट और बढ़ने की उम्मीद  होती है। 

Ethereum

Ethereum को 2015 में Develop किया गया था यह डिजिटल करेंसी Bitcoin की ही तरह एक ब्लॉकचेन प्लेटफार्म है, जिसकी खुद की क्रिप्टोकरेंसी है जिसे Ether (ETH) या Ethereum के नाम से जाना जाता है Ethereum बिटकॉइन के बाद दुनिया का सबसे ज्यादा पॉपुलर Cryptocurrency है

Litecoin

यह मुद्रा बिटकॉइन के समान है लेकिन नए नवाचारों को विकसित करने के लिए और अधिक तेज़ी से आगे बढ़ी है, जिसमें तेज़ भुगतान और अधिक लेनदेन की अनुमति देने की प्रक्रिया शामिल है।

Litecoin Bitcoin से ही मिलता जुलता क्रिप्टोकरेंसी है जोकि नए इनोवेशन करने के लिए ही सबसे ज्यादा तैयार रहता है जैसे कि फास्ट पेमेंट करने में और ज्यादा से ज्यादा transactions करने में Litecoin सक्षम है।  

Ripple

Ripple एक distributed ledger system है जैसे कि 2012 में बनाया गया था Ripple को ना सिर्फ केवल क्रिप्टोकरंसी के ट्रांजैक्शन को रिकॉर्ड करने के लिए बल्कि अलग-अलग तरह के रिकॉर्ड को Track करने के लिए भी उपयोग किया जाता है। इसको बनाने के पीछे जो कंपनी है उसने अलग-अलग तरह के Banks और Financial Institutions के साथ काम किया है।  

Cryptocurrency के कुछ Advantage और Disadvatage

हर चीज की तरह क्रिप्टोकरंसी के भी कुछ फायदे या नुकसान देखने को मिल सकते हैं, वैसे तो इस Currency के बहुत सारे फायदे नुकसान हो सकते है, लेकिन हमने  कुछ पॉपुलर फायदे और नुकसान नीचे शेयर किए है। Cryptocurrency के कुछ Advantage

Private और Secure

Cryptocurrency के ऊपर Blockchain Technology है जिसका नाम नई काफी है इससे सुरक्षित प्रमाद करने के लिए। Blockchain Technology में उच्च दर्जे की सिक्योरिटी सुनिश्चित की जाती है जो कि हम पहले बात कर चुके हैं।  

Decentralized और transparent

Cryptocurrency decentralized Payment System पर काम करती है जिसका मतलब है, की Cryptocurrency में किसी भी Central Authority या फिर Financial  Institution जैसे की बैंक का कोई नियंत्रण नहीं है। 

Inflation में रामबाड़ 

Cryptocurrency Inflation के टाइम पर एक अच्छा Investment साबित हो सकती है, जैसे इससे एक उदाहरण से समझते हैं Investors आमतौर पर Cryptocurrency को सोने से तुलना करते हैं इसा करने का उनका बहुत कारणों  कारण यह भी है की सोने की तरह ही Cryptocurrency पर लिमिटेड सप्लाई है।  

Cryptocurrency के कुछ Disadvantages

सही Information की कमी 

Cryptocurrency एक  नया कांसेप्ट है, तो इसी बजह से इसकी Long Term में sustainability की उम्मीद करना अभी काफी मुश्किल है, क्युकी सरकार हो या आम जनता किसी को भी इसके बारे में अच्छी तरीके से जानकारी नहीं है।

उतार-चढ़ाव से भरा  

किसी भी Financial market की तरह Crypto market भी एक ऐसा मार्किट है जिसमे अच्छी तरीके से उतार-चढ़ाव देखा जा सकता है जिसमें कि इन इन्वेस्टर्स के पैसे जितने ज्यादा ऊपर जाते हैं उतने ही अच्छानुकसान उन्हें झेलने को भी मिलता सकता है।  

अंतिम शब्द 

इस आर्टिकल में हमने आपको क्रिप्टोकरेंसी क्या है (Cryptocurrency Kya Hai) इस बारे में विस्तार से समझाने का प्रयत्न किया और इस डिजिटल करेंसी के बारे में डिटेल से जानने के बाद आपको इसमें निवेश करने का भी मन हुआ होगा तो हम आपको बताना चाहते हैं कि cryptocurrency की दुनिया अभी नै है तो इसके बारे में अभी कुछ भी अनुमान लगाना नहीं जा सकता है तो आप जब भी इसमें निवेश करे तो इसके बारे में अच्छी तरीके से research कर लें और जिस ताकि आपको निवेश का अच्छा से अच्छा फायदा और काम से काम नुकसान हो सके।  

Leave a Comment