Dogecoin Kya Hai: भारत में Dogecoin कैसे खरीदे? पूरी जानकारी।

Dogecoin Kya Hai: – दोस्तों आजकल हर किसी की जुबान पर Cryptocurrency नाम बड़े जोरों शोरों से चल रहा है और जब भी Cryptocurrency जैसी Digital Currency का नाम लिया जाता है तो ऐसा हो नहीं सकता कि बिटकॉइन की बात वहां पर नहीं हो क्योंकि Bitcoin दुनिया की सबसे पहली Cryptocurrency है जिसको 2009 में Satoshi Nakamoto ने बनाया था।

वैसे तो बिटकॉइन दुनिया में सबसे पहली Digital Currency है लेकिन Cryptocurrency की जब भी बात होती है तो बिटकॉइन ही एक ऐसा इकलौता Cryptocurrency नहीं है जो कि मार्केट में चल रहा हो

Bitcoin के अलावा भी कुछ ऐसी Cryptocurrency है, जैसे कि Ethereum, Dogecoin भी आज मार्केट में बड़े ही जोरों शोरों से अपना नाम बनाए हुए हैं।

तो दोस्तों अगर आप Cryptocurrency के बारे में जानकारी रखना पसंद करते हैं तो हमें यकीन है आपने Dogecoin का नाम  भी जरूर सुना होगा।

क्योंकि Dogecoin भी एक ऐसा Cryptocurrency है जिसने बहुत ही कम समय में डिजिटल करेंसी की क्षेत्र में बहुत ही जल्दी अपना नाम बनाया है।

इसी वजह से इस आर्टिकल में हम Dogecoin के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे। जिससे की अगर आपके दिमाग में इस Cryptocurrency से संबंधित किसी भी प्रकार की कोई भी प्रश्न हो जैसे कि (Dogecoin Kya Hai, Dogecoin me Kaise  Invest kare या फिर Dogecoin ko Kisne Banaya tha) कौन है, यह सारे प्रश्न का जवाब आर्टिकल के अंत तक आपको निश्चित मिल जाएगा।

तो चलिए सबसे पहले जानते हैं कि ये Dogecoin क्या है?

Dogecoin एक Digital Currency है जो कि बाकी दूसरी करेंसी से एकदम अलग है। Dogecoin को Decentralized Currency के नाम से भी जानी जाती है,  Decentralized Currency का मतलब है कि इसमें किसी भी सरकार या फिर किसी भी Financial Institution का कोई भी Control नहीं होता।

इसके विपरीत इसमें पूरा कंट्रोल जिस व्यक्ति के पास है ये क्रिप्टोकरेंसी है उसी के पास पूरा कंट्रोल होता है वह व्यक्ति  चाहे तो किसी दूसरे व्यक्ति को इस क्रिप्टोकरंसी को बेंच सकता है या किसी दूसरे व्यक्ति से Blockchain Technology के द्वारा इसको आसानी से खरीद सकता है जिसमें की सरकार और किसी भी फाइनेंस इंस्टिट्यूशन जैसे कि बैंक का कोई भी हाथ नहीं होता है।

Dogecoin जैसी Cryptocurrency का उपयोग हम केबल ऑनलाइन के माध्यम से खरीद व बेच में उपयोग कर सकते है।

Dogecoin का मालिक कौन है?

Dogecoin की शुरुआत 2013 में अमेरिका के Billy Markus और Jackson Palmer नामक सॉफ्टवेयर इंजीनियरों ने की थी।

आपको यह जानकर बहुत ही हैरानी होगी कि इन दोनों इंजीनियरों ने इस Digital Currency की शुरुआत मजाक मजाक में की थी और इनका Dogecoin के बनाने के पीछे एक Funny स्टोरी है जोकि एक कुत्ते के मीम से संबंधित है, और उसी meme से प्रेरित होकर इन्होने इस Digital currency को बनाया था।  लेकिन आज इनकी इस Digital Currency की कीमत अरबों  की हो चुकी है

इन दोनों का Dogecoin को बनाने के पीछे एक ही Idea था की यह दोनों एक पीयर-टू-पीयर (Peer to Peer) ट्रांजैक्शन यही लें दें का आरंभ करना चाहते थे। जिसके लिए इन्होने इन्होंने Dogecoin को बनाने के लिए किसी भी प्रकार के कोई दूसरी फैंसी चीज को लेने के बजाय जापानी कुत्ते की एक ब्रीड Shiba Inu को लेना पसंद किया।

Dogecoin इसने चर्चित क्यों है

आज के समय में Dogecoin के इतना चर्चित होने का सिर्फ एक ही कारण है जोकि टेसला और स्पेस एक्स के को-फाउंडर Alon Musk है, जिन्होंने एक ट्वीट करके कहा कि वह अपनी कंपनी Spacex की तरफ से एक रॉकेट को लॉन्च करेंगे और उस रॉकेट मैं वह Dogecoin की कॉपी भी भेजेंगे। इस ट्वीट को पढ़ने के बाद तो लोग टूटकर Dogecoin में निवेश करने लगे जिसके बाद इसमें एकदम ₹5 से ₹6 तक का उछाल आ गया।

Dogecoin के कुछ फायदे 

  • Dogecoin जैसी Cryptocurrency Blockchain Technology पर काम करती हैं और Blockchain Technology में यूजर के लेंन देन का Record केवल एक computer या Server में नहीं बल्कि दुनिया के बहुत सारे computers या Servers में रहता है जिससे कि Fraud की संभावना ना के बराबर रहती है।
  • Dogecoin में की गई किसी प्रकार की ट्रांजैक्शन में किसी दूसरे पेमेंट ऑप्शन के तुलना में बहुत कम  transaction fees लगती है।
  • Dogecoin एक Cryptocurrency है जोकी Heavy Cryptography Algorithm के ऊपर बनाई गई है जिसमें की यूजर का अकाउंट बहुत ही सुरक्षित रहता है।

Dogecoin के कुछ नुकसान

  • Dogecoin में जब एक बार लेनदेन या फिर ट्रांजैक्शन पूरा हो जाता है तो उसके बाद उस ट्रांजैक्शन को Reverse का कोई भी ऑप्शन नहीं है तो इस प्रकार Dogecoin ट्रांजैक्शन को Reverse कर पाना असंभव हो जाता है।
  • Dogecoin जैसी Cryptocurrency को Digital Wallet के द्वारा open किया जा सकता है और Wallet को open करने के लिए User को एक ID दी जाती है तो अगर यूजर के द्वारा वह ID हमेश के लिए खो जाती है तो आपके वॉलेट में जो Cryptocurrency थी वह भी सदा के लिए अमान्य हो जाएगी क्युकी बिना ID के Wallet को खोलना असंभव है, इस प्रकार आपकी सारी Cryptocurrency आईडी ना होने पर बेकार हो जाएगी

Dogecoin में Invest कैसे करे

अगर आप भारत से Dogecoin में निवेश करना चाहते हैं तो आसानी से कर सकते हैं इसके लिए कुछ चुनिंदा Android   Applications जैसे कि  Buyucoin, Bitbns, Zevpay के द्वारा आसानी से खरीदा जा सकता है।

याद रहे की इन एप्लीकेशन में आपको अपने कुछ जरूरी डॉक्यूमेंट के साथ केवाईसी करना होगा तो इन एप्लीकेशन के द्वारा Dogecoin में निवेश करने से पहले आपको इन Android Applications के बारे में अच्छे से जांच पड़ताल कर लेना चाहिए ताकि आपके सारे डॉक्यूमेंट इन Applications पर सुरक्षित रह सके।

कुछ अंतिम जानकारी

तो दोस्तों हमें उम्मीद है की आज के इस आर्टिकल में आपको Dogecoin नामक क्रिप्टोकरेंसी के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। जिसमें हमने Dogecoin क्या है इसके बारे में पूरी तरीके से जानकारी आपको प्रदान की।

इसके विपरीत Dogecoin को किसने बनाया और इस क्रिप्टोकरेंसी में किस तरीके से निवेश कर सकते हैं इसके बारे में भी हमने आपको पूरी तरीके से जानकारी देने का प्रयत्न किया।  इसके साथ ही हमने Dogecoin के फायदे और नुकसान के बारे में भी इस आर्टिकल में चर्चा की।

तो अब जैसे कि आप इस Dogecoin क्रिप्टोकरेंसी के बारे में अच्छी तरीके से जान चुके हैं तो अगर आप इनमें निवेश करना चाहते हैं तो हमारी इस बात को ध्यान से सुने।

दोस्तों Dogecoin एक Cryptocurrency जोकि चाहे वह सरकार हो या फिर आम जनता अभी सभी के लिए नई है। तो इसमें इसी के चलते उतार-चढ़ाव की भी बहुत ही ज्यादा संभावनाएं है। तो आप जब भी इस क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करें तो इसके बारे में और अच्छी तरीके से जांच पड़ताल करके ही करे।

क्योंकि ज्यादातर लोग इसमें अच्छा मुनाफा कमाने के लालच में अपना बहुत सारा पैसा लगा देते हैं और अच्छा खासा घाटा उढ़ाते लेते है। तो अगर आप इसमें सच में मुनाफा कमाना चाहते हैं तो इसके बारे में अच्छी तरीके से जानकारी लेकर ही इसमें निवेश करना एक समझदार इंसान की पहचान है।

Leave a Comment